शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय किल्लेकोडा समर कैंप के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों की जानकारी छात्र-छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने कर रहे विभिन्न आयोजन

डौंडीलोहारा –वनांचल क्षेत्र में स्थित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय किल्लेकोडा के सभागार में शासन के आदेशानुसार समर कैंप का आयोजन आज

प्रातः 7:00 बजे अजय मुखर्जी प्राचार्य के संरक्षण में संपन्न हुआ। इस अवसर अजय मुखर्जी प्राचार्य ने कहा कि- शासन की योजना है कि समर कैंप के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों की जानकारी छात्र-छात्राओं को अधिक से अधिक देकर छात्र-छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाया जा सके ।

समर कैंप प्रभारी डॉक्टर बी .एल. साहसी ने कहा कि इस योजना के माध्यम से छात्र-छात्राओं को पर्यावरण ,अभिव्यक्ति कौशल, कैरियर गाइडेंस, योग , पत्र लेखन आदि की जानकारी देकर छात्र-छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाना शासन का उद्देश्य रहा है । वाय. एस. मरकाम (वरिष्ठ व्याख्याता) ने कहा कि -आने वाले दिनों में- नेतृत्व क्षमता, अनुशासन ,गणितीय कौशल ,खेलकूद का जीवन में महत्व, योग शिक्षा ,रंगोली, चित्रकारी,निबंध, मेहंदी प्रतियोगिता का भी आयोजन होना है ,और ऐसे कार्यों में उपस्थित होकर छात्र-छात्राएं अपने जीवन को सफल व सार्थक बना सकते हैं। प्रथम दिवस सी. जी. पटेल व्याख्याता के द्वारा उपस्थित छात्र-छात्राओं को पर्यावरण से संबंधित होने वाले लाभ के संबंध में विस्तार पूर्वक बताया गया साथ में आईसीटी से संबंधित जानकारी दी गई जिसके माध्यम से छात्र-छात्राएं किसी भी टॉपिक को कैसे हल कर सकते हैं, जानकारी दी गई। घनश्याम पटेल व्याख्याता ने- भाषा कौशल तथा पत्र लेखन आज की स्थिति में कैसा लिखा जाए के संबंध में विस्तृत जानकारी दी इस दौरान लगभग 40 छात्र छात्राएं एवं समस्त स्टाफ उपस्थित थे जिनमें प्रमुख रूप से जे.पी .बांधव व्याख्याता ,हेमेंद्र साहू व्याख्याता, त्रिजिला ठाकुर मैडम आदि रही है।।

पटेली स्कूल में समर कैम्प का हो रहा संचालन

बालोद। वनांचल विकासखंड डौंडी के संकुल केंद्र पटेली अंतर्गत विभिन्न प्राथमिक/माध्यमिक/हायरसेकंडरी विद्यालयों में राज्य शासन के आदेश के

परिपालन एवं प्रबंधन समिति व पालकों की सहमति से समर कैम्प लगाया जा रहा है।
संकुल समन्वयक बसंतमणी साहू एवं संकुल प्रभारी जे एल भुआर्य ने बताया समर कैम्प 20 मई से 31 मई 2024 तक प्रातः 7 से 9 बजे तक संचालित किया जा रहा है।
इस कैम्प का उद्देश्य बच्चो के रचनात्मक क्षेत्र का विकास करना है।
इस कार्य मे समस्त शिक्षको के साथ साथ स्थानीय स्तर के कलाकार व जानकार लोंगो को आमंत्रित किया जा रहा है।

प्रथम दिवस रंगोली बनाने की कला के बारे में बताया गया एवं बच्चो ने रुचि लेकर गतिविधि में शामिल हुए। इसी तरह विभिन्न विधा- चित्रकला/पेंटिंग,कविता पाठ/गायन,अभिनय-नृत्य कला(स्थानीय),सड़क सुरक्षा/यातायात के नियम ,पर्यावरण सरंक्षण/शाला सुरक्षा एवं इलेक्ट्रॉनिक सामग्री के उपयोग से होने वाले लाभ एवं हानि की जानकारी,खेल एवं योगाभ्यास
,मौलिक कहानी लेखन एवं वाचन,स्थानीय वाद्ययंत्रों से वादन अभ्यास से अभ्यास कराया जा रहा है। प्रथम दिवस के कैम्प सयुंक्त रूप से प्राथमिक शाला-पूर्व माध्य शाला पचेड़ा, इसी तरह प्राथमिक शाला पटेली, प्राथमिक शाला परसोदा एवं पूर्व माध्य शाला पटेली व हायरसेकंडरी स्कूल पटेली में लगाया गया। जिसमें बरसन लाल निषाद, यश्वनी सेन,सोमेश्वर कोर्राम,बसंत कुमार तारम,उषा कांगे,विद्या भुआर्य प्रतिमा साहू सुनीता शर्मा, सन्ध्या कुलदीप योगेश चंद्राकर, नकुल राम आलेंद्र, सुरेश कुमार, झुमुक लाल मसियारे ललित कुमार ठाकुर बीसे लाल साहू,सुनील कुमार रावटे, नुपेंद्र सपहा, सहित संकुल के समस्त शिक्षक व पटेली सरपँच राधा रावटे,पचेड़ा सरपंच हरेश्वरी कौडों
की उपस्थिति एवं बीईओ जे एस भारद्वाज ,बीआरसीसी एस एन शर्मा के मार्गदर्शन में यह कैम्प संचालित किया जा रहा है।

शा प्राथमिक व पूर्व मा शाला गोड़ेला में किया जा रहा समर कैंप का आयोजन

बालोद। छत्तीसगढ़ शासन व कलेक्टर जिला प्रशासन बालोद के आदेशानुसार 20 से 31 मई तक सरकारी स्कूलों में समर कैंप का आयोजन किया जा रहा है।

जिसके अंतर्गत शा प्राथमिक व पूर्व मा शाला गोडेला में समर कैंप का आयोजन 20 मई से शुरू हुआ जिसमें संस्था प्रमुख रमेश कुमार हिरवानी के द्वारा समर कैंप के उद्देश्य पर प्रकाश डाला गया व प्रतिभा त्रिपाठी शिक्षिका के द्वारा मंत्रोच्चारण के साथ समर कैंप की शुरुआत की गई। उसके बाद मधुबनी पेंटिंग का इतिहास बताया गया व बच्चों को मधुबनी चित्रकारी सिखाया गया। बच्चों ने अपनी सहभागिता सुनिश्चित की। सनत देशमुख शिक्षक के द्वारा बच्चों को रंगों को भरने का तरीका बताया गया।

इस तरह से प्रतिदिन का शेड्यूल बनाकर बच्चों को समर कैंप का आनंद उठाने के लिए प्रेरित किया गया।

पंडित प्रदीप मिश्रा को सुनने छग सहित देश के कोने कोने से आयेंगे शिव भक्त, अमलेश्वर में शिव महापुराण कथा आयोजन की तैयारी अंतिम चरण पर : विशाल खंडेलवाल

पाटन। अमलेश्वर में 27 मई से 2 जून तक श्री समर्पण शिवमहापुराण कथा का आयोजन किया गया है। कथावाचन अंतरराष्ट्रीय कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा करेंगे। आयोजन की तैयारी और कार्यक्रम में कार्य विभाजन को लेकर रविवार को कथा स्थल पर बैठक रखी गई। बैठक में अलग-अलग व्यवस्था की जिम्मेदारी लेने हजारों की संख्या में लोग मौजूद रहे। जिन्हें अलग-अलग विभाग बनाकर जिम्मेदारियों को बांटकर विभाग प्रमुखों को उनकी भूमिका के बारे में बताया गया। आयोजन समिति के प्रमुख विशाल खंडेलवाल, पवन खंडेलवाल मोनू साहू ने बताया कि 2 साल का इंतजार अबखत्म होने वाला है। पहले कथा सांकरा मैदान में प्रस्तावित थी, लेकिन वहां पर विश्वविद्यालय का कार्य प्रगति पर है। जगह की कमी थी, शिवजी की इच्छा के अनुसार यह कार्यक्रम अमलेश्वर में तय हुआ। आयोजनकर्ताओं ने बताया कि अमलेश्वर में कथा के लिए 55 एकड़ जगह तय की गई है, जहां 2 लाख वर्ग फीट में डोम शेड पंडाल लगाया जा रहा है। 10 एकड़ में भोजनालय की व्यवस्था की गई है। 30 एकड़ से अधिक जगह पार्किंग के लिए तय है। शिव भक्तों की सुविधा के लिए हर जगह पानी की सुविधा होगी। प्रतिदिन 30 से 40 हजार शिवभक्त रात्रि में विश्राम करेंगे।

भक्तों को गर्मी से राहत देने के लिए 200 जंबो कूलर लगाएंगे

कथा स्थल में गर्मी से बचने 200 जंबो कूलर, सीलिंग फैन, मिस्टिंग शॉवर भी लगाया जाएगा ताकि भक्तों को राहत मिल सके। इसके अलावा बताया गया कि आयोजन की तैयारी बीते कई महीने से चल रही है। वर्तमान में पंडाल निर्माण समेत अन्य व्यवस्थाओं में लोग सहयोग दे रहे। बैठक का संचालन बसंत अग्रवाल ने किया। इस अवसर पर जिपं उपाध्यक्ष अशोक साहू, जिपं सदस्य हर्षा चंद्राकर, राकेश ठाकुर, तहसील साहू संघ पाटन अध्यक्ष दिनेश साहू, दुलारी साहू, मनवा कुर्मी समाज राज प्रधान युगल आडिल, महेंद्र वर्मा, लोकमनी चंद्राकर, कल्याण साहू, डोमन साहू सहित कई समाज प्रमुख उपस्थित थे।

नेपाल में सोनहा बादर चिटौद के वरिष्ठ कलाकार,राहुल साहू को मिला लोक नृत्य व कत्थक में कला रत्न अवार्ड

गुरुर। नेपाल काठमांडू महोत्सव,इंटरनेशनल डांस एवं म्युसिक फेस्टिवल 2024 के तत्वाधान में इंटरनेशनल डांस एवं म्युसिक महोत्सव का कार्यक्रम, स्टूडियो थिएटर नेपाल फ़िल्म कैम्पस गौशाला श्री पशुपति नाथ मंदिर के समीप नेपाल काठमांडू मे किया गया। जिसमे बांग्लादेश, प्रतापगढ़, दमोह, असम, कटक, पुणे, सिलीगुड़ी पश्चिम बंगाल, सहित देश विदेश के अनेको कलाकारों की प्रस्तुति किया गया।
जहां पर छत्तीसगढ़ से बालोद ज़िला के अंतिम छोर मे बसे गुरुर ब्लॉक के ग्राम चिटौद के छत्तीसगढी लोककला मंच सोनहा बादर व श्रुति संगीत विद्यालय चिटौद के विद्यार्थी एवं कलाकार राहुल साहू का भी प्रदर्शन हुआ। जिसमे सोनहा बादर व श्रुति संगीत विद्द्यालय के कलाकारों व विद्यार्थियों को क्रमशः नृत्य पशुपतिनाथ सम्मान, नृत्य मनाकामना सम्मान,नृत्य कला सम्मान, व कला रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया। जहां पर लोक नृत्य के साथ साथ राहुल साहू को कत्थक में कला रत्न का बेस्ट पुरस्कार मिला। छत्तीसगढ़ सोनहा बादर व श्रुति संगीत विद्यालय के संचालक, निर्देशक व राहुल साहू के संगीत गुरु जितेन्द्र साहू ने बताया कि विगत वर्ष 2023 मे दो लोक नृत्य व एक ड्रामा की प्रस्तुति शिमला हरियाणा मे किया गया था। जहां पर उनकी प्रस्तुति को क्रमशः प्रथम, द्वितीय व बेस्ट फ्ले अवार्ड से सम्मानित किया। इस वर्ष नेपाल मे हमारे लोक नृत्य के साथ साथ राहुल साहू के कत्थक को अवार्ड मिलना हमारे विद्द्यालय व हमारे लिए सौभाग्य का विषय रहा। इसके लिए राहुल के कत्थक गुरु, छत्तीसगढ़ की माटी और बड़े आदरणीय जनो का आशीर्वाद महत्वपूर्ण रहा। हम इस पुरस्कार का असली हकदार इन्ही सभी आदरणीय जनो का मानते है।सभी गुरुजनो का आशीर्वाद निरंतर मिलता रहे ।

ये थे अतिथि

नेपाल महोत्सव के फेस्टिवल अतिथि जस्टिस डीपी चौधरी ( चीफ एडवाइजर ), प्रवा पटनायक (चेयर पर्शन ), डॉ विजयानंद सिंग (प्रेसीडेंट ), तांका चूलयंगन ( आरटिस्तिक स्कुल थिएटर नेपाल ), शिलादित्य रथ ( जनरल सेकेक्ट्री ), इनके कुशल निर्देशन मे नेपाल महोत्सव मे देश विदेश से आये कलाकारों का खूब मनोबल बढ़ा, व कलाकारों को भरपूर मान सम्मान मिला। नेपाल महोत्सव मे छत्तीसगढ़ के सोनहा बादर व श्रुति संगीत विद्यालय से जितेन्द्र साहू, ज्योतिष साहू, लीलम साहू,भोला यादव, आशीष यादव,वीरेंद्र कुंजाम, खिलानन्द ( खिलु ) साहू, रामकुमार यादव,राहुल साहू, गोपाल साहू, पंकज साहू, किशन पटेल, ऋषभ साहू,वेद प्रकाश साहू, भावना सेन, संगीता मानिकपुरी,बसंती पटेल,आकांक्षा साहू,नीरज साहू, हेमा साहू,रेणुका यादव, जानकी साहू, गीतांजली यादव, पोषण साहू, दिनेश साहू,तरुण साहू, दीपक साहू,ने हिस्सा लिया।

इन्होंने दी बधाई

नेपाल महोत्सव मे सफल प्रस्तुति हेतु सांसद मोहन मंडावी, विधायक गुण्डरदेही कुंवर सिंह निषाद, लोक गायिका कविता वासनिक , संगीता मानिकपुरी , जिला पंचायत सभापति ललिता पिमन साहू, कार्तिक साहू, जितेंद्रियम देवांगन, प्रदीप साहू , नंद किशोर शर्मा , पूर्व नगरपंचायत अध्यक्ष, कौशल साहू मंडल अध्यक्ष, तारम सर , साकेत साहू , कमल साहू , पूर्व सैनिक सोहन साहू ,ज़िला पंचायत सभापति मीना सत्येंद्र साहू, ग्राम चिटौद के सरपंच कुमारी साहू ,अधिवक्ता सुरेन्द्र तिवारी ,केशव सिन्हा, के.नागेश , बाल चरण साहू , रमेश चेलक , भारतीय किसान संघ जिला संयोजक देवचंद साहू,परमानन्द गुरुपंच , प्रोफेसर सुरेश देशमुख , तहसीलदार श्याम सर,प्राचार्य वीरेंद्र साहू , रविकांत गजेंद्र , आकाश गिरी गोस्वामी , वोमन सिन्हा , विधायक संगीता सिन्हा , अधिवक्ता मनोज शर्मा, वीरेंद्र कुंजाम , उद्धव साहू त्रिलोकी साहू त्रिलोक सिन्हा, खिलानन्द साहू , सरपंच व लोक गायक इंद्र कुमार गंजीर ,रूपेंद्र टेकाम ,साहू समाज महामंत्री हलधर साहू, लोक गायिका व इंदिरा कला संस्कृति विश्वविद्यालय खैरागढ़ की कुलपति पद्मश्री ममता चंद्राकर ,कला मर्मग्य प्रेम चंद्राकर , दुष्यंत हरमुख़ भूपेन्द्र साहू राजेश मारु , महादेव हिरवानी ,राकेश साहू ,युगल किशोर साहू , विष्णु कश्यप , लीलम पंत, पोषण साहू, डेविड, पंजाब राव, रामकुमार यादव, तुला राम साहू, रघुवीर साहू,दीपक महोबिया, नरेंद्र साहू , आरआई वीरेंद्र कुंजाम , उद्धव साहू , बालेन्द्र साहू, त्रिलोक सिन्हा ,उमेश गंगराले ,अजय वर्मा सहित अनेक सम्मानित जन व चिटौद के ग्राम विकास समिती, ग्राम पंचायत के पंचगण, मितानिन, आँगन बाड़ी शिक्षिका व कार्यकर्ता, हेड मास्टर काशी साहू सहित विद्यालय के शिक्षक स्टॉफ ने शुभकामना प्रेषित की।