बंटी साहू ने 21वीं बार किया रक्तदान

बालोद। ग्राम भेड़िया नवागांव निवासी तहसील साहू समाज युवा प्रकोष्ठ संयोजक बंटी साहू ने रक्तदान शिविर में 21वीं बार रक्तदान किया। बंटी साहू ने रक्तदान कर लोगो को रक्तदान के लिए जागरूक किया। समाज के प्रतिनिधि मंडल ने प्रमाण पत्र दे कर सम्मानित किया। इस नेक कार्य के लिए समाज के युवा प्रकोष्ठ सचिव उमेश साहू, विकास कुमार, लोकेंद्र साहू, खलेंद साहू, राम कृष्ण, सुभाष साहू ने हर्ष व्यक्त किया।

14 घंटे ट्रेन लेट होने से यात्रियों को हुई तकलीफ, टिकट का पैसा देने से इंकार किया रेल्वे ने -विकास जैन मित्तल

बालोद। कांग्रेस आईटी सेल बालोद जिलाध्यक्ष विकास जैन मित्तल ने रेल्वे के ऊपर आरोप लगाते हुए सभी यात्रियों का पैसा वापस करने एवं उनको हुई तकलीफों के लिए मीडिया का सहारा लेते हुए बताया कि छपरा जंक्शन से गोंदिया जंक्शन जाने वाली ट्रेन क्रमांक 08796 गोंदिया स्पेशल फेयर समर स्पेशल 14 घंटे लेट होने के कारण उस ट्रेन के सभी यात्रियों को भारी तकलीफ हुई। ऐसे में कुछ बच्चे परीक्षा देने नही पहुंच पाए और कुछ अपने काम में। विकास जैन मित्तल का यह भी कहना है की रेल्वे के इस लापरवाही के कारण आम जनों में काफी परेशानियां हो रही है और आमजनों में काफी आक्रोश हो गया है। ऐसे में यात्री जब अपनी रिजर्वेशन टिकट को ले कर रेल्वे अधिकारी या टीटी के पास जाता है तब रेल्वे अधिकारी या टीटी साफ इंकार कर देते है ट्रेन लेट है तो हम क्या करे वह आपकी परेशानी है जाओ यहां से टिकट वापस नहीं होगा। आप 139 टोलफ्री में कॉल कर बात कर लीजिए।यात्री जब 139 टोलफ्री में संपर्क करते है तो वहा भी उसे मना कर दिया जाता है ।अगर आपकी ट्रेन 3 घंटे से ज्यादा लेट है तो आप टीडीआर फाइल करे माफ करिए हम आपकी कोई सहायता नहीं कर सकते।जब यात्री टीडीआर फाइल करता है तो उसमे भी 15 से 90 दिन का समय मांगा जाता है । कुल मिला के रेल्वे आमजनों का पैसा लूट रही है और आम जन तकलीफ में है। ट्रेन की टिकट होने के बावजूद यात्री दूसरी ट्रेन में नही जा सकता और यदि दूसरी ट्रेन में चढ़े तो दूसरा टिकट या रेल्वे के टीटी लंबा चौड़ा फाइन काट देते है। बालोद जिलाध्यक्ष विकास जैन मित्तल का रेल्वे अधिकारी से यह सवाल है रेल्वे की इस लापरवाही का जिम्मेदार कौन? उन बच्चो की परीक्षा का जिम्मेदार कौन? उन नौकरी वालो का जिम्मेदार कौन?

त्रुटिपूर्ण वरिष्ठता सूची से प्राचार्य,व्याख्याता व शिक्षक पदोन्नति में आ रही बाधा को दूर कराने आगे आया शालेय शिक्षक संघ, शिक्षासचिव और DPI संचालक से मिलकर किया मांग

त्रुटि विहीन पदोन्नति के लिए DPI में हो सत्यापन और स्वैच्छिक समर कैंप की निचले स्तर पर गलत व्याख्या पर भी जताई नाराजगी और अवकाश के दिनों में ड्यूटी के लिए सेवा पुस्तिका में EL इंद्राज करने उठाई मांग

सचिव ने कहा EL के लिए प्रक्रिया आगे बढ़ाएंगे

बालोद। शालेय शिक्षक संघ प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे और जिलाध्यक्ष जितेंद्र शर्मा के नेतृत्व में संगठन का प्रतिनिधिमंडल शिक्षासचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी व लोक शिक्षण संचालनालय के संचालक दिव्या उमेश मिश्रा से मिलकर उनके समक्ष DPI से जारी ELB व TLB संवर्ग की व्याख्याता वरिष्ठता सूची में व्याप्त भारी त्रुटियों को, व राज्य भर से प्राप्त शिकायतों को एकत्रित कर समाधान हेतु रखा, वहीं DPI के आदेश स्वैच्छिक समर कैम्प की निचले स्तर पर गलत व्याख्या कर दबाव पूर्वक समर कैंप के आयोजन को अनिवार्य बनाने का विरोध किया और अवकाश के दिनों में किये जा रहे ड्यूटी के बदले उतने ही दिनों का अर्जित अवकाश सेवा पुस्तिका में दर्ज करने की मांग की। ज्ञात हो कि शालेय शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष जितेंद्र शर्मा ने इस सूची के जारी होते ही इसमें व्याप्त विसंगतियों के लिए नाराजगी जताते हुए प्रदेश के शिक्षकों से अपील की थी कि त्रुटिविहीन प्राचार्य पदोन्नति हेतु सभी प्रभावित व्याख्याता LB संवर्ग दावा आपत्ति जरूर लगायें। क्योंकि जारी सूची में मुख्य रूप से व्याप्त विसंगतियां निम्नानुसार है:-

01.म.प्र.से स्थानांतरण में छ.ग. आने वाले कर्मचारियों की छ.ग.में कार्य भार ग्रहण दिनांक के स्थान पर म.प्र.की प्रथम नियुक्ति तिथि को वरिष्ठता दिनांक अंकित करना।

02.अंतर्नियोक्ता स्थानांतरण (दूसरे जिला पंचायत या दूसरे नगरीय निकाय में स्थानांतरण)की स्थिति में स्थानांतरित निकाय में कार्य भार ग्रहण दिनांक के स्थान पर प्रथम नियुक्ति तिथि को वरिष्ठता दिनांक करना।

03.पूर्ववर्ती संविदा शिक्षकों के मामले में पद परिवर्तन दिनांक 01/05/2005 के स्थान पर पद परिवर्तन आदेश दिनांक को वरिष्ठता दिनांक अंकित करना।

04.पदोन्नति व निम्न से उच्च पद के मामलों में वर्तमान पद पर नियुक्ति तिथि के स्थान पर पिछले पद की नियुक्ति तिथि को वरिष्ठता दिनांक अंकित करना।

05.मृत व सेवानिवृत्त कर्मचारियों का नाम अभी भी सूची में होना।

06.संविलियन पश्चात स्थानांतरित कर्मचारियों का नाम पूर्व संस्था में ही होना।
प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे एवं प्रांतीय महासचिव सचिव धर्मेश शर्मा ने अधिकारियों को बताया कि यद्यपि शासन तथा संचालनालय स्तर से प्रथम संविलियन के दौरान ही संविलियन निर्देश क्रमांक 05 में वरिष्ठता संबंधी सामान्य प्रशासन विभाग व स्थानीय निकाय के नियमों का सूक्ष्मता से परीक्षण कर समुचित व स्पष्ट निर्देश जिलों व स्थानीय निकायों के लिए जारी किए गए थे, किंतु कुछ प्रकरणों में जिलों व स्थानीय निकाय कार्यालय स्तर पर त्रुटियां हुई जिसके कारण सूचियों में अभी भी विसंगतियां व्याप्त है।
विगत 05 वर्षों से केवल दावा आपत्ति मांगने की औपचारिक होती है किन्तु विसंगतियों का निराकरण नहीं होता। विसंगतियों का समुचित निराकरण हुए बिना पदोन्नति की प्रक्रिया भी समुचित ढंग से आगे नहीं बढ़ सकती। विसंगतियों के कारण न्यायालयीन हस्तक्षेप की संभावना भी बढ़ जाती है।
चूंकि व्याख्याता संवर्ग का नियोक्ता प्राधिकारी संचालक लोक शिक्षण संचालनालय है तथा इनकी पदोन्नति के पद प्राचार्य का नियोक्ता छ.ग.शासन स्कूल शिक्षा विभाग है, अतः व्याख्याता संवर्ग की वरिष्ठता सूची की शुद्धता का दायित्व लोक शिक्षण संचालनालय का है, इसके लिए केवल मैदानी कार्यालयों पर निर्भरता व्यावहारिक रूप से उचित नहीं है। विसंगतियों के निराकरण के लिए संचालनालय के स्तर पर जानकारियों का परीक्षण व सत्यापन आवश्यक है।
प्रतिनिधिमंडल में शामिल प्रांतीय महासचिव धर्मेश शर्मा व कार्यकारी प्रांताध्यक्ष चन्द्रशेखर तिवारी ने बताया कि सचिव महोदय व संचालक नेअविलंब विसंगतियों का निराकरण करके सूची का पुनः प्रकाशन करने तथा यथाशीघ्र प्राचार्य पदोन्नति की प्रक्रिया भी संपन्न करने बाबत् आश्वस्त किया है।
प्रदेश मीडिया प्रभारी जितेंद्र शर्मा ने बताया कि संगठन ने समर कैंप व अन्य गैर शैक्षणिक कार्यो के संदर्भ में शिक्षा सचिव के समक्ष अपनी बात रखी।

समर कैंप-* DPI द्वारा जारी स्वैच्छिक समर कैंप के आदेश को अतिक्रमित कर निचले स्तर पर DEO और BEO द्वारा अनिवार्य समर कैंप लगाने हेतु बाध्य करने की शिकायत शिक्षासचिव के समक्ष की गई,तथा अवकाश में कार्य लिए जाने पर उस दिन का EL प्रदाय कर सेवा पुस्तिका में इंद्राज करने की मांग की जिस पर शिक्षा सचिव ने DPI के आदेश की मूलभावना से पृथक व्याख्या को गलत बताते हुए अवकाश में समरकैम्प ड्यूटी करने वाले शिक्षकों की सेवापुस्तिका में EL इंद्राज करने हेतु प्रक्रिया आगे बढ़ाने की बात कही। वही शिक्षको से गैर शैक्षणिक कार्य लिए जाने को अनुचित बताया।

शिमला कांग्रेस जीत रही: विकास चोपड़ा

बालोद। हिमाचल के शिमला लोकसभा के प्रत्याशी विनोद सुल्तानपुरी के पक्ष में प्रचार में रोहड़ू विधानसभा क्षेत्र में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व भूत पूर्व मुख्यमंत्री स्व. विरभद्र सिंह की धर्मपत्नी प्रतिभा देवी सिंह ने चुनावी सभा को संबोधित किया।

बालोद नगर पालिका अध्यक्ष विकास चोपड़ा ने बताया इस मंच का हिस्सा बनने का मुझे भी सौभाग्य मिला।

पीसीसी अध्यक्ष को इस दौरान विधानसभा क्षेत्र में की जा रही गतिविधियों की जानकारियां दी। मौके पर लोगों का उत्साह बता रहा था कि शिमला काँग्रेस जीत रही।

मटिया मिडिल स्कूल में समर कैंप संपन्न, विभिन्न विधाओं में बच्चों का किया गया कौशल विकास

बालोद। समर कैंप का आयोजन शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला मटिया में किया गया।

मां सरस्वती की पूजा अर्चना एवं राज गीत के साथ प्रारंभ किया गया। जिसमें शाला प्रबंधन समिति के सदस्य आमंत्रित थे।

शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला मटिया के प्रधान पाठक
डोमार सिंह चंद्राकर एवं प्रशिक्षक के रूप में श्रीमती पुष्पा चौधरी शामिल थी।

तत्पश्चात अतिथियों का स्वागत गुलाल एवं पुष्प से किया गया। समर कैंप का उद्देश्य बताते हुए श्रीमती पुष्पा चौधरी ने बताया कि इसका उद्देश्य छात्र-छात्राओं को रचनात्मक गतिविधि में संलग्न कर उनमें बहुमुखी कौशल का विकास किया जा सकता है। यह शासन की मंशा है। अतः रचनात्मक गतिविधियों में ,छात्र-छात्राओं को पालक एवं उनके शिक्षक का मार्गदर्शन उपयोगी हो सकता है। बच्चों के कौशल का आदान आदान-प्रदान के रूप में फायदेमंद है । इसलिए समर कैंप का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें विभिन्न विधाओं में बच्चों के कौशल विकास किया जा सकता है जैसे चित्रकारी,गायन , वादन,निबंध कहानी लेखन ,हस्तलिपि लेखन, नृत्य, खेल ,अपने गांव व शहर का ऐतिहासिक परिचय व अन्य गतिविधियों को शामिल किया जा सकता है। इस विषय में अगली कड़ी में डीडी यदु सेवानिवृत शिक्षक एवं शाला प्रबंधन समिति के शिक्षाविद के द्वारा समर को शानदार योजना, नई पहल के रूप में सभी बच्चों को दिशा निर्देश दिया गया कि यह जीवन के लिए सुनहरा अवसर है। अतः इस पांच दिवस के समर कैंप का भरपूर लाभ उठाएं । संतोष ठाकुर भूतपूर्व सरपंच के द्वारा भी बच्चों को आशीर्वाद के रूप में प्रोत्साहित किया गया। प्रधान पाठक डोमार सिंह चंद्राकर के दिशा निर्देश में शाला प्रबंधन समिति के सहमति से एवं पालकों की सहमति से समर कैंप संचालित लिया जा रहा है। इस दौरान बच्चों के स्टोन वर्ली,वर्ली आर्ट, बांधनी प्रिंट, कबाड़ से जुगाड़, सभी बच्चों ने बनाया सिखा। आपको बता दे कि बहुमुखी प्रतिभाशाली शिक्षिका पुष्पा चौधरी हमेशा से नवाचार शिक्षक के रुप में अपनी पहचानी जाती है। कार्यक्रम में, तानिया, तुलसी रंजिता, पुष्पेंद्र, मनीष, वासुदेव, काव्य,डाली, नेहा, मोना, भूपेंद्र, खिलेंद्र, खिलेश,पल्लवी,, जागेश आदि शामिल हुए।