अंधेरगर्दी: बिजली विभाग की लापरवाही, उमरादाह में सुबह से टूटा था तार, सप्लाई भी चालू, जनपद सदस्य संजय बैस के आंखों के सामने करंट की चपेट में आने से गौमाता की मौत

बालोद । बालोद ब्लॉक के ग्राम उमरादाह, जो दुर्ग मार्ग पर स्थित है, में बिजली विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। जहां विगत रात्रि से आंधी तूफान के कारण टूटे हुए बिजली तार से दूसरे दिन बुधवार को शाम तक भी असुरक्षित करंट सप्लाई होता रहा। इसी करंट की चपेट में आने से एक गौ माता की मौके पर मौत हो गई। यह पूरी घटना कुसुमकसा के निवासी जनपद सदस्य संजय बैस के आंखों के सामने हुई। जो बुधवार की शाम करीब 4.30 बजे उसी रास्ते से दुर्ग जा रहे थे। तभी उन्होंने प्राथमिक शाला मुख्य मार्ग के सामने एक गौमाता को छटपटाते हुए देखा। उन्होंने तत्काल गाड़ी रोक पास जाकर देखा तो गौमाता बिजली तार से लिपटी हुई थी। चंद सेकेंड में तड़पते हुए गौमाता ने अपने प्राण त्याग दिए। सुबह से तार टूटे होने की जानकारी हुई और इस घटना से साबित हुआ कि विभाग के कर्मचारियों ने लापरवाही करते हुए इस मुख्य हाई टेंशन तार से करंट की सप्लाई भी बंद नही की थी। उन्होंने तत्काल मामले की जानकारी बिजली विभाग के डीई को दी। जिन्होंने तत्काल मामले को स्टाफ भेजकर दिखवाने की बात कही। वहीं इस घटना के बाद विभाग हरकत में आ रहा है। लेकिन अगर समय पर सप्लाई बंद की जाती तो यह घटना नही होती । साथ ही लोगों के लिए भी यह सुबह से बड़ा खतरा बना हुआ है।

By dailybalodnewseditor

2007 से पत्रकारिता में कार्यरत,,,,,कुछ नया करने का जुनून, कॉपी पेस्ट से दूर,,,